free hit counter
शिकारी को सबक

शिकारी को सबक


Spread the loveएक शिकारी ने बहुत से जानवरों का शिकार किया था खासतौर पर वह खरगोशों का शिकार अक्सर किया करता था वह खरगोश को पकड़ता बड़े से चाकू से उनको मारता और भूनकर खा जाता था यह सत्य है कि हर पापी के पापों का घड़ा एक दिन अवश्य ही भरता है एक बार की बात है कि उस शिकारी ने जंगल से एक खरगोश पकड़ा और अपने गांव की ओर चल दिया उसने खरगोश को कानों से पकड़ रखा था रास्ते में एक पेड़ के नीचे एक मुनी बैठा था उसे खरगोश की दुर्दशा पर दया आ गई


Spread the love
September 20, 2020
मूर्ख बिल्लियां

मूर्ख बिल्लियां


Spread the loveसड़क पर एक रोटी पड़ी हुई थी तभी एक बिल्ली की नजर उस रोटी पर पड़ी लेकिन जब तक वह उस रोटी के निकट पहुँचती कि तभी एक दूसरी बिल्ली ने उस पर झपट्टा मारा और अपने कब्जे में कर लिया दोनों बिल्लियां आपस में झगड़ पड़ी दोनों ही उस रोटी पर अपना – अपना हक जताने लगी काफी देर तक लड़ने झगड़ने के बाद एक बिल्ली ने सुझाव देते हुए कहा हम इस रोटी को आधी – आधी बांट लेती हैं मैं इस के दो टुकड़े कर देती हूं एक तुम ले लेना और एक मैं तुम


Spread the love
September 19, 2020
गाय का मालिक कौन ?

गाय का मालिक कौन ?


Spread the loveएक किसान था उसका नाम धर्मपाल था उसके पास एक दुधारू गाय थी जो सुबह – शाम दूध देती थी धर्मपाल उस गाय का दूध बेचकर काफी धनी हो गया था एक बार गाय बीमार पड़ गई और उसने दूध देना छोड़ दिया धर्मपाल ने सोचा कि गाय अब स्वस्थ तो हो नहीं सकती इसलिए वह उसे जंगल में छोड़ आया, लेकिन गाय अपने स्वभाववश धर्मपाल के पास वापस लौट आई उसने पुनः लाठी मार – मार कर उसे भगा दिया  गाय भटकती हुई पड़ोस के गांव में एक अन्य किसान माधव के खेत में जाकर बेहोश हो


Spread the love
September 19, 2020
चोर-चोर मौसेरे भाई

चोर – चोर मौसेरे भाई


Spread the loveद्धापर नगर में द्रोण नामक एक गरीब ब्राह्मण रहता था ब्राह्मण को जिस दिन भिक्षा अच्छी मिल जाती उस दिन उसका सारा परिवार भरपेट भोजन करता और जब भिक्षा नहीं मिलती तब पूरे परिवार को भूखे पेट सोना पड़ता उसने या उसके परिजनों ने जीवन में ना कभी अच्छे वस्त्र पहने थे और ना कभी बढ़िया भोजन ही किया था निर्धनता के कारण वहां मैला कुचैला ही रहता था उसके सर और दाढ़ी के बाल ही नहीं बल्कि हाथ पांव के नाखून भी बढे रहते थे ब्राह्मण की इस दशा पर तरस खाकर एक यजमान ने उसे  दो


Spread the love
September 13, 2020
राजा और साधु

राजा और साधु


Spread the loveएक राजा था उसे अपनी प्रशंसा सुनने का बड़ा शौक था एक बार उसने एक भव्य और मजबूत महल का निर्माण करवाया सभी ने उस महल की खूब प्रशंसा की प्रशंसा सुनकर राजा बड़ा प्रसन्न हुआ एक बार की बात है कि राजा के उस महल में एक महात्मा पधारे राजा ने महात्मा की खूब सेवा – टहल की सेवा – टहल करने के बाद राजा ने उन्हें अपना पूरा महल दिखाया लेकिन महात्मा ने महल के विषय में कोई टिप्पणी नहीं की जबकि राजा चाहता था कि महात्मा उसके महल के बारे में कुछ बोले महल की


Spread the love
September 12, 2020
गधे का बंधन

गधे का बंधन


Spread the loveएक  कुम्हार के पास कई गधे थे रोज सुबह जब वह गधों को मिट्टी लाने के लिए ले जाता तब एक जगह कुछ देर के लिए आराम करता था वह सभी गधों को पेड़ से बांध देता और खुद भी एक पेड़ के नीचे लेट कर सुस्ताने लगता था एक दिन की बात है कि जब वह मिट्टी लेने जा रहा था तब गधों को बांधने वाली रस्सी छोटी पड़ गई विश्राम स्थल पर उसने सभी गधे बांध दिए लेकिन एक गधा बंधने से रह गया वह उसका कान पकड़ कर बैठ गया अब ना कुम्हार आराम कर


Spread the love
September 11, 2020
अनोखा अतिथि सत्कार

अनोखा अतिथि सत्कार


Spread the loveबहुत समय पहले की बात है कि एक घने वन में क्रूर बहेलिया अपने शिकार की खोज में इधर-उधर भटक रहा था सुबह से शाम तक भटकने के बाद एक कबूतरी जैसे – तैसे उसके हाथ लग गई कुछ क्षणों बाद तेज वर्षा होने लगी सर्दी से कांपता हुआ बहेलिया वर्षा से बचने के लिए एक वृक्ष के नीचे आकर बैठ गया कुछ देर बाद वर्षा थम गई उसी वृक्ष की शाखा पर बैठा कबूतर अपनी कबूतरी के वापस लौटकर ना आने से दुखी होकर विलाप कर रहा था पति के विलाप को सुनकर उसे वृक्ष के नीचे


Spread the love
September 10, 2020
जादुई पतीले का रहस्य

जादुई पतीले का रहस्य


Spread the loveएक किसान को अपने खेत में खुदाई के दौरान एक बहुत बड़ा पतीला मिला वह पतीला इतना बड़ा था कि उसमें एक साथ  पांच सौ लोगों के लिए चावल पकाए जा सकते थे किसान के लिए वह पतीला बेकार था उसने वह पतीला एक तरफ रख दिया और पुनः खुदाई करने में जुट गया कुछ देर बाद किसान आराम करने के लिए बैठ गया उसने अपना फावड़ा उस पतीले में डाल दिया और आराम करने लगा आराम करने के बाद जब उसने पतीले में से फावड़ा निकालना चाहा तो उसमें से एक – एक करके सौ फावड़े निकले


Spread the love
September 10, 2020
सुपारी का चमत्कार विक्रम और बेताल

सुपारी का चमत्कार


Spread the loveविक्रम तो हटी था ही उसने इस बार भी बेताल को पकड़कर अपने वश में कर लिया बेताल ने नई कहानी सुनानी आरंभ की…. प्राचीन काल में कुसुमावती नगर पर सुविचार नामक राजा राज करता था राजा की एक पुत्री थी चंद्रप्रभा वह बहुत सुंदर थी अक्सर शाम को वह अपनी सखियों के साथ बाग में सैर करने जाया करती थी एक दिन जब चंद्रप्रभा बाग में सैर कर रही थी तब वहां उसकी भेट एक ब्राह्मण युवक मनस्वी से हुई मनस्वी भी उसी नगर में रहने वाले एक ब्राह्मण चंद्रदेव का पुत्र था रूप रंग तथा गुण


Spread the love
September 9, 2020
असफल तपस्या विक्रम और बेताल

असफल तपस्या विक्रम और बेताल


Spread the loveविक्रम ने भी ठान रखी थी कि वह बेताल को साधु के पास ले जाकर ही दम लेगा अतः उसने इस बार भी बेताल को वश में किया और कंधे पर लाद कर चल दिया इस बार बेताल ने यह कहानी सुनाई….. उज्जैन नगरी में वासुदेव नामक एक ब्राह्मण रहता था उसका एक पुत्र था गुणाकर  वासुदेव ने अपने पुत्र को पढ़ा लिखा कर योग्य शास्त्री बना दिया था किंतु गुणाकर को यह सब रास ना आया क्योंकि दुव्यसनो ने उसे चारों ओर से घेर रखा था वासुदेव ने अपने पुत्र को सही राह पर लाने का बहुत


Spread the love
September 6, 2020

53 Dadi ma ki Khani

Spread the love

हेलो साथिओ स्वागत है आपका बचपन में हम सबने अपनी दादी नानी माँ से कहानियाँ तो सुनी ही होगी पर आज के दौर में dadi ma ki kahani जैसे लुप्त ही हो गयी है टेक्नोलॉजी के चलते आज के बचो के पास दादी से कहानियाँ सुनने का मौका ही नहीं लगता इसलिए हम आपके बच्चो के लिए लेके आये है 53 dadi ma ki kahani आशा करते है की आपको ये पसंद आएगी दादी माँ की कहानियो में जादू होता था तो चलिए आपको ले चलते हैु उसी पुराने दौर में जहा दादी अपने पौतो – पोती को कहानियाँ सुनती थी और कहानियाँ सुनते सुनते बच्चे सो जाया करते थे इंटरनेट पर hindi educational stories की भरमार है

उसी में से हम आपके बच्चो के लिए लेके आये है  hindi kahaniya in वन क्लिक आप हमारी वेबसाइट पर hindi kahaniya new पर पढ़ सकते है तो बिना किसी देरी किये पढ़ते है आज की नयी कहानी

असली मां कौन   माँ तो माँ होती है चाहे बच्चा कैसा हो पर माँ के लिए उसका बच्चा सबसे प्यारा होता है इस कहानी में दो औरतो के बीच एक बच्चे को लेके तनाव हो जाता है तब एक साधु इस समस्या का निदान करते है

मछलियाँ और मेंढक  कहानी का सार है की कभी-कभी सामान्य ज्ञान सैकड़ों हजारों खूबियों से ज्यादा लाभकारी होता है आप चाहे सैकड़ों खूबियों वाले हो पर कभी कभी सामान्य ज्ञान कई मुसीबतो से बचा लेता है तो बच्चो आज की in hindi kahaniya से क्या सीखा की कभी कभी सामान्य ज्ञान भी लाख खूबियां से बेहतर होता है मेंढक के पास विकल्प था की वो वही अपने दोस्तों के साथ रुक सकता था पर मेंढक ने जाने का फैसला किया अगर खतरा नजदीक हो तो अकलमदी उसी में है की वह से  हट जाना चाहिए

hindi stories for kids हाथी और चूहे  इस कहानी हमे सिखने को मिलता है की हमे मुसीबत के समय सबकी मदत करनी चाहिए चूहे की बात अगर हाथी मानता तो चूहा भी हाथी की सहायता न करता और हाथी सिपाहीओं द्वारा बिछाये जाल में फसे रहते आज की hindi kahaniya baccho ke liye प्रेणनादायक  है जिसमे बच्चो को सिखने को मिलेगा की कोई कमजोर कोई ताक़तवर नहीं होता समय पड़ने पर कोई भी काम आ सकता इस लिए किसी के लिए गलत भावना ना रखे

hindi kahaniya baccho ki लालची बहुएं   आज एक बात तो समझ में आ गई भैया अगर दो भाइयों में सच्चा प्यार हो तो उसे कोई भी धन दौलत रिष्तेदार जुदा नहीं कर लालची बहुएं hindi kahaniya fairy tales की कहानिया बहुत ही रोचक होती है और साथ ही साथ हमे बहुत कुछ सिखने को मिलता है आज की कहानी लालच के ऊपर है की कैसे लालच बढ़ने से रिश्ते के बीच दरार आ जाती है अगर आदमी अपने विवेक से काम न ले तो घर में लड़ाई झगड़े होने लगते है और प्यार कही खो जाता है इस कहने से हमे सिख मिलती है की हमे कभी लालच नहीं करना चाहिए किसी ने सही कहा है लालच बुरी बला है

Hindi long stories with moral एक उदार शत्रु एक उदार और नेक दिल चोर ने उन्हें बचा लिया कभी कभी नेक दिल शत्रु बेवकूफ दोस्त से ज्यादा काम आता है ऐसे तो दुनिया में अच्छी बहुत काम है पर जितनी भी है उसकी कमी रहती ही है वो कहते है ना ऊपर वाला को भी अच्छे लोगो की जरूरत पड़ती है आज की hindi kahaniya for kids भी कुछ इसी तरह की है जिसमे एक डाकू अजीब परिस्थिति में फस जाता की वो क्या करे क्या ना करे तो आये पढ़ते है रोमांचक story fair tales और आपको ये hindi kahani कैसी लगी हमे कमैंट्स बॉक्स में जरूर बताये

hindi stories of एक बेवकूफ मित्र   जैसा की अपने ऊपर वाली कहानी में पढ़ा एक उदार और नेक दिल चोर ने उन्हें बचा लिया कभी कभी नेक दिल शत्रु बेवकूफ दोस्त से ज्यादा काम आता है ऐसे ही बिना सोचे समझे किसी को अपना दोस्त नहीं बनाना चाहिए बेकूफ़ दोस्त अपने लिए खतरा तो होता ही है साथ ही दुसरो के लिए भी मुसीबत खड़ी करता है

Hindi story खरगोश और हाथियों का राजा कभी-कभी हमें अपनी बुद्धिमता का प्रयोग अपने आप को बचाने के लिए करना चाहिए

Hindi Stories संगति का असर किसी ने सही कहा है अच्छी सोहबत में रहने से इंसान अच्छा बन जाता है इसलिए सांगत का विशेष ध्यान रखे

शुचिमुखा पक्षी और बंदर हमे इस कहानी से सिख मिलती है की बिना मांगे किसी को सलाह नहीं देनी चाहिए अगर शुचिमुखा ने बिना मांगे सलाह न दी होती तो वो उसके प्राण बच जाते

खरगोश चिड़िया और बिल्ली ये कहानी हमे याद दिलाती है की झूठ कभी भी अपना स्वभाव नहीं बदलता चाहे वह अपना रूप कितना भी बदल ले

ऊंट और उसके झूठे दोस्त जैसा की अपने पिछली कहानी में पढ़ा की झूठ कभी भी अपना स्वभाव नहीं बदलता चाहे वह अपना रूप कितना भी बदल ले यहाँ भी यही हुआ अगर ऊँठ अपने दोस्तों की बात का विश्वास न करता तो जीवित होता हमे भी अपने जीवन में झूठे लोगो से दूर रहना चाहिए

सांप और कौए पंचतंत्र की इस कहानी में समझदारी और चतुराई से कौए ने शक्तिशाली शत्रु को परास्त कर दिया

चिड़िया और हाथी किसी ने सही कहा है एकता में बहुत तगत होती है जैसा की इस कहानी में हुआ छोटे-छोटे मित्रो ने मिलकर काम किया तो बड़े से बड़े शत्रु को भी गिरा दिया

चार ब्राह्मण तो बच्चों हम कितना भी ज्ञान सीख ले कर उससे कब कहां और कैसे प्रयोग करना हो ना पता हो तो वह ज्ञान किसी काम का नहीं

मूर्ख कछुआ किसी ने सच ही कहा है जो व्यक्ति अपने मित्र अपने हितैषीओ की सलाह पर ध्यान नहीं देता उसका परिणाम बहुत बुरा होता है

लालची बोरवेल वाला हमे इस कहानी से सिख मिलती है की लालच बुरी बाला है हमे लालच नहीं करना चाहिए अगर बोरवेल वाले ने लालच नहीं किया होता तो वह इतनी मॅहगी ज़मीन न खरीदता

जादुई पिचकारी मजे से पढ़े जादुई पिचकारी की हिंदी कहानी बच्चो के लिए

होशियार खरगोश और शेर मजे से पढ़े होशियार खरगोश और शेर हिंदी कहानी बच्चो के लिए कभी-कभी चतुराई और बुद्धिमता बड़े बड़े बलवानो पर भारी पड़ती है

समुंदर ने मानी हार बड़े बूढ़े सही कहते है एकता में बहुत शक्ति होती है अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता सब लोगों को मिलकर कार्य करने से असंभव कार्य भी संभव बन जाते हैं

संग ना कीजिए दुष्ट का किसी ने सच ही कहा है दुष्ट व्यक्ति को आमंत्रण देना सदैव दुखदाई होता है क्योंकि दुष्ट व्यक्ति कभी भी दुष्टता नहीं छोड़ता सांप को चाहे जितना दूध पिलाओ वक्त पड़ने पर वह दंश जरुर मारेगा

बोलने वाली गुफा कभी कभी तरकीब लगाने से असंभव लगने वाला काम भी आसानी से हो जाता है जैसा की इस हिंदी स्टोरीज में हुआ गीदड़ ने सही समय पर सही तरकीब लगाई और अपने प्राण बचा लिए नहीं तो शेर उसे चीर फाड़ के मार देता

दुष्ट बंदर और बया पक्षी  किसी विद्वान व्यक्ति ने ठीक ही कहा है कि किसी मूर्ख व्यक्ति को कभी सीख मत दो मूर्ख व्यक्ति को सीख देने का परिणाम अतः बुरा ही निकलता है

एकता का बल इसीलिए तो कहा गया है कि मिलकर कार्य करने से असंभव समझे जाने वाले कार्य भी सिद्ध हो जाते हैं हम सबको मिल-जुल कर ही कार्य करने चाहिए

स्वभाव की मजबूरी इस हिंदी स्टोरीज में शेरनी की बात सुनकर गीदड़ का बच्चा भय से कांपने लगा वह चुपचाप वहां से किसी प्रकार अपनी जान बचाकर भाग निकला और जाकर अपने कुल के बंधु-बंधुओं में मिल गया उसे समझ आ गया था कि अपने कुल में रहकर ही वह सुरक्षित रह सकता है

नादान की दोस्ती जी का जंजाल नादान व्यक्ति की सलाह कभी नहीं माननी चाहिए जो व्यक्ति नादान की सलाह मानता है उसका परिणाम अतः वैसा ही होता है जैसा उस जुलाहे का हुआ

Lalchi Bagula | बगुला और केकड़ा इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि हमें आंख मूंद कर किसी की बात पर विश्वास नहीं कर लेना चाहिए क्योंकि कभी-कभी भेड़ की खाल में भेड़िया भी छुपे रहते हैं

गवैया गधा हमे भविष्य में यदि कोई अच्छी सलाह देगा तो मैं उस पर जरूर अमल करना चाहिए

ब्राह्मण राक्षस और चोर इसलिए ठीक ही कहा गया है कि कभी-कभी दुश्मनों का आपसी विवाद व्यक्ति के लिए खुशी का कारण बन जाता है

सोना टपकाने वाला पक्षी बिना किसी की उपयोगिता जाने बिना फैसले लेना आदमी को मुर्ख साबित कर देता है जैसा की इस हिंदी कहानी में हुआ पहला मुर्ख पक्षी था जो बहेलिये के जाल में फस गया दूसरा मुर्ख बहेलिया था जिसने पक्षी की उपयोगिता जानते हुए भी राजा को उसे सौप दिया तीसरा मंत्री था जिसने राजा को पक्षी को आजाद करने की सलाह दी और राजा सबसे मुर्ख निकला जिसने बिना जाँचे पक्षी को आजाद कर दिया

चुहिया का स्वयंवर पंचतंत्र  की कहानी हमारे पूर्वजों का यह कथन सत्य ही है कि व्यक्ति का जाति प्रेम सहज ही नहीं छूट पाता

स्वार्थ की मित्रता मित्रता वहीं निभती है जो निस्वार्थ भाव से की गई हो स्वार्थ वश की गई मित्रता जल्दी ही टूट जाती है

तीन मछलियां कहा गया है कि दूरदर्शी बनो आने वाले खतरे को पहचानो और तुरंत उसका उपाय सोच लो यही समझदारी का काम है

चालाक हिरण, कौवा, कछुआ और चूहा विद्वानों ने सच ही कहा है सच्चा मित्र वही होता है जो विपत्ति में काम आए ऐसे तो जिंदिगी में दोस्त की अलग ही महत्व है परन्तु दोस्त अगर बेवकूफ हो तो उस से सावधान रहना चाइये आज की कहानी हमे यही शिक्षा देती है बेवकूफ दोस्त से बुद्धिमान शत्रु ठीक होता है तो आये पढ़ते है रोमांचक story fair tales और आपको ये hindi kahani कैसी लगी हमे कमैंट्स बॉक्स में जरूर बताये

जा पर कृपा प्रभु की होय प्रभु की कृपा जिस पर भी होती है उसका कभी अनिस्ट नहीं हो सकता

मूर्ख राक्षस मूर्खता की कोई सिमा नहीं हो सकती इस कहानी ने ये साबित कर दिया जिसे पढ़ कर मुझे बहुत मजे के साथ साथ सिखने को भी मिला की आदमी को अपने बुद्धि विचार कर ही फैसले लेने चाहिए

सबसे सुंदर अपना घर अपना घर अपना ही होता है उस से बढ़कर दूसरी जगह सुख कहां मातृभूमि से अच्छी भला और कोई जगह कैसे हो सकती है

कील उखाड़ने वाला बंदर अनाधिकार चेष्टा करने का ऐसा ही परिणाम होता है जैसा इस कहानी में पड़ने में आया

परस्पर वैर का परिणाम इस दादी माँ की कहानी से हमे सिख मिलती है की हमे किसी से द्धेष नहीं रखना चाहिए परस्पर वैर का परिणाम हमेशा गलत ही होता है

रंगा हुआ सियार विद्वानों ने सच ही कहा है झूठ के पांव नहीं होते सच्चाई एक ना एक दिन खुल ही जाती है

बगुला और केकड़ा किसी विद्वान व्यक्ति ने कहा है कि अपने से बलवान शत्रु पर यदि विजय प्राप्त करनी हो तो उससे बलशाली उसके किसी दूसरे शत्रु का सहारा लो उपाय करने से ही बलवान शत्रु पर विजय प्राप्त की जा सकती है

हंस और शिकारी की कहानी हमे कभी भी किसी बुजुर्ग का उपहास नहीं उड़ाएंगे बल्कि उसके अनुभव से ज्यादा ही फायदा उठाने की कोशिश करें

दो दोस्त और बोलनेवाला पेड इस कहानी में हमे शिक्षा दी कि खराब लोगों की संगत से बचो नहीं तो तुम्हें इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है hindi kahaniya cartoon में दो दोस्त और बोलनेवाला पेड के बारे में पढ़ेंगे जिस से हमे सिखने को मिलेगा की अपनी नियत कभी ख़राब नहीं करनी चाहिए जिसको जो कहा है उस पर रहना चाहिए इस कहानी से हमे यही सिख मिलती है जैसा करोगे वैसा पाओगे शेर के ऊपर सवा शेर धर्मबुद्धि ने अपनी बुद्धि से पापबुद्धि को सबक सिखाया

शेर और चलाक गीदड़ ये कहानी बहुत प्रेणनादायक है इस कहानी को पढ़ के बहुत ही मजा आया

धोखेबाज सुनार नियत का बिगड़ जाना व्यक्ति के लिए हानिकारक होता है जैसा की इस कहानी को पढ़ के पता लगा और इस से ये भी शिक्षा मिलती है की जो कभी किसी का बुरा नहीं करना उसके साथ कभी बुरा नहीं होता व्यक्ति की नियत साफ होनी चाहिए हमारे पूर्वजो ने सही कहा है मन चंगा तो कसौटी में गंगा मन में गंदगी नहीं होनी चाहिए तो उस पर प्रभु की कृपा बनी रहती है

बंदर और मगरमच्छ ये बहुत रोमांचित करने वाली कहानी जरूर पढ़े

एक ठग और सन्यासी हमे कभी भी किसी बदमाश के मीठे वचन बोलने वाले पर आंख बंद करके विश्वास नहीं करना चाहिए hindi stories kids एक  ठग और सन्यासी आपको पसंद आयी होगी hindi stories writing से हमे बहुत कुछ सिखने को मिलता है जैसे की लिखने का तरीका और शब्दो की समझ और उनके लिखने का तरीके के बारे में ऐसे ही और भी कहानिया पढ़िए और सीखिए

कौवे और उल्लू के बीच दुश्मनी  हमारे घर के बड़े बूढ़े व्यक्ति हमे यही सिखाते है की हमे बिना सोचे समझे किसी भी बात पर अपनी राय नहीं देनी चाहिए और यही शिक्षा हमे ये कहानी भी देती है की बिना बात के हमे किसी के बीच में नहीं बोलना चाहिए

बुरे की संगत कभी ना करो बुरे की संगत कभी मत करो उल्लू के संग रहने के कारण बेचारा निर्दोष हंस अपने प्राण गवा बैठा

गीदड़ की चतुराई गीदड़ की चतुराई से गीदड़ के कई दिन का आहार प्रबंध हो गया

गधे की मूर्खता यह कहानी यही शिक्षा देती है कि पहले सोचो फिर करो किसी की चिकनी चुपड़ी बातों में आना उचित नहीं है यदि वह गधा अपने दिमाग से काम लेता तो एक बार  शेर के पंजे से बच निकलने के बाद दोबारा वह हरगिज जंगल की और ना जाता

स्वर्ण हंस बिना विचारे जो किसी दूसरे व्यक्ति पर क्रोध करता है तो उसे अंततः पछताना ही पड़ता है hindi kahaniya baccho ki का महत्व इतने वर्षों बाद भी बना हुआ है इसका कारण यही है कि यह बहुत रोचक है और अप्रत्यक्ष रूप से इसमें नीतिवान ज्ञानवान बनाने की सीख दी गई है उसकी रोचकता के कारण ही बच्चे इन्हे आज भी बड़े चाव से hindi kahaniya for kids पढ़ते हैं

hindi stories inspirational व्यापारी और झूठ झूठ बोलने से किसी को कोई लाभ नहीं होता जैसा की इस कहानी में पढ़ने को मिला कभी कभी व्यक्ति झूठ बोल के ऐसी अवस्था में फंस जाता है कि काश वह सच ही बोला होता hindi stories moral values से सीखा की कभी हमे झूठ नहीं बोलना चाहिए परिस्थिति चाहे कुछ भी हो हमे धैर्य से काम लेना चाहिए समय एक जैसा नहीं रहता वक़्त बदलता है जैसा व्यपारी का बदला

hindi stories with moral  ब्राह्मण और ठग व्यक्ति चाहे कितना भी झूठ बोले हमे ऐसी परिस्थिति में अपनी योग्यता पर भरोसा करना चाहिए ना कि जो कोई कुछ भी कहे उसे मानता चला जाए ऐसे तो कहानिया बहुत सी भाषा में होती है पर stories hindi language आसानी से समझ में आने वाली होती है आज की story in hindi भी ऐसी ही है एक ब्राहमण अपने विवेक से सही फैसला लेता है और किसी की बातो में नहीं आता है उसे अपने पर विश्वास होता है तो आये आज की कहानी पढ़ के क्या सीखते है कमेंट बॉक्स में बताये


Spread the love

About The Author

Reply